भोपाल के अस्पताल में देर रात ऑक्सीजन सप्लाई रुकी दो की मौत :

राजधानी में गुरुवार देर रात जेपी अस्पताल के कोरोनावायरस भर्ती 2 मरीजों की मौत हो गई है व्रत को में शामिल महिला मरीज के परिजन ने ऑक्सीजन की कमी के कारण मरीजों की मौत होने के आरोप लगाए हैं हालांकि अस्पताल प्रबंधन ने ऑक्सीजन सप्लाई बाधित होने की बात से इनकार किया है जिन मरीजों की मौत हुई है उनमें से महिला मरीज को कोरोनावायरस वर्ल्ड मैप जबकि पुरुष मरीज को कोरोना के सस्पेक्टेड वार्ड में रखा गया था भानपुर निवासी 50 वर्षीय रामरती पति राम सेवक अहिरवार को लेकर परिजन 28 मार्च की रात जेपी अस्पताल पहुंचे थे,  29 को उनकी कोरोना रिपोर्ट आयी थी  दूसरे मृतक सीबी मेश्राम को 2 दिन पहले ही परिजनों ने यहां भर्ती किया था । उनको निमोनिया था गुरुवार रात करीब 3:00 बजे उनकी मौत हो गई है |

फ्रांस : संक्रमण बेकाबू, अस्पताल भरे ; 4 हफ्ते का नेशनल लॉकडाउन लगा :

फ्रांस में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए राष्ट्रपति इमैनुएल मैको ने देश में 4 हफ्ते का नेशनल लॉकडाउन लगा दिया है । यहां अस्पताल लगभग भरे हैं और आईसीयू में 5000 से ज्यादा मरीज हो गए हैं गुरुवार को पिछले 24 घंटे में 41000 नए संक्रमित मिले यहां स्थिति नवंबर में आई कोरोनावायरस रियल जैसी हो गई है एक्टिव मरीजों की संख्या 42 लाख पार आ गई है पेरिस के एक प्रमुख अस्पताल के आईसीयू हेड्स इन मिशेल ने कहा कि स्थिति भयावहता से भी बदतर है हम दूसरे लहर के स्तर पर खड़े हैं।

विशेषज्ञों का कहना है कि देश में दूसरी लहर के बाद लापरवाही वायरस के ब्रिटेन वेरिएंट और वैक्सीनेशन में पिछड़ने के कारण देश में संक्रमण बेकाबू हो गया है एस्ट्रेजनेका वैक्सीन पर प्रतिबंध गलत निर्णय था इससे लोग वैक्सीन को लेकर शंकालु हो गए हैं।

जीएसटी कलेक्शन का रिकॉर्ड टूटा मार्च में आए 1.23 लाख करोड़ रुपए :

मार्च में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच जीएसटी कलेक्शन नए रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया है इस महीने 1 लाख 23 हजार 902 करोड रुपए का जीएसटी संग्रह हुआ जो कि पिछले साल मार्च के मुकाबले 27 फीट से अधिक है इससे पहले बीते जनवरी में 1.19 लाख करो रुपए के संग्रह का रिकॉर्ड बना था वित्त मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक जीएसटी रेवेन्यू पिछले 6 महीनों से लगातार 100000 करोड रुपए से अधिक रहा है इस अवधि में तेजी से वृद्धि के रुझानों में कोरोना मरीज के बाद आर्थिक सुधार के स्पष्ट संकेत मिलते हैं। 1,23,902 करोड मैं कुल जीएसटी में सेंट्रल जीएसटी के 22,973 करोड़ रुपए स्टेट जीएसटी के 29,329 करोड रुपए और इंटीग्रेट जीएसटी के 62,842 करोड रुपए शामिल है जीएसटी कलेक्शन में देश में महाराष्ट्र शीर्ष पर बना हुआ है राज्य में 17,038,49 करो रुपए का जीएसटी कलेक्शन हुआ है यह पिछले साल मार्च के आंकड़े 15,002,11 करो रुपए से 14% अधिक है |

मांग लगातार बढ़ रही है सरकार खर्च बढ़ाने के मूड में है इससे फिर चल सकती है प्राइवेट इन्वेस्टमेंट साइकिल :

बीते एक साल इक्विटी मार्केट के लिए ऐतिहासिक रहा मार्च 2020 में यह सबसे ऊंचे स्तर से करीब 40% गिरकर 3 साल के निचले स्तर पर आ गया था तब पूरी दुनिया कोविड-19 महामारी की गिरफ्त में थी इस महामारी को रोकने के लिए सरकार ने देश में लॉकडाउन लगा दिया इसके बाद जून 2020 से सरकार ने अर्थव्यवस्था को अनलॉक करना शुरू किया और फिर तेज रफ्तार इकोनामिक रिकवरी शुरू हुई नतीजतन शेयर बाजार में उछाल आया और सेंसेक्स निफ्टी अपने-अपने पिछले सबसे ऊंचे स्तरों से ऊपर निकल गए 2020 की आखिरी तिमाही से न केवल भारतीय अर्थव्यवस्था की स्थिति सुधरने लगी बल्कि ग्लोबल इकोनामी भी तेजी से रिकवर होने लगी वैश्विक अर्थव्यवस्था में लिक्विडिटी की स्थिति सुधरी कोविड-19 डिवेलप की गई कंपनियों की आय में तेजी से सुधार आया और वित्त वर्ष 2021 22 का बजट बाजार के अनुकूल रहा इन सब कारणों से शेयर मार्केट की रैली को तगड़ा सपोर्ट मिला और इस साल फरवरी में सेंसेक्स ने 52000 का स्तर छू लिया इस बीच निफ्टी 50 नेवी 15000 का केवल क्रॉस किया। बाहर हाल पिछले 1 महीने से बाजार कंसोलिडेट हो रहा है बीच-बीच में बड़ी बिकवाली के कई कारण हैं मसलन बॉन्ड यील्ड बढ़ना महंगाई बढ़ना लगभग सभी कमोडिटी की कीमतों में तेजी जाफा और देश में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले एक बार फिर तेजी से बढ़ना हालांकि इनके बावजूद निवेशकों की दिलचस्पी बनी हुई है इसकी सबसे बड़ी वजह वित्त वर्ष 2021- 22 ने देश की अर्थव्यवस्था तेजी से पटरी पर लौटने की उम्मीद है सरकार खर्च बढ़ाने के मूड में नजर आ रही है इसके चलते प्राइवेट इन्वेस्टमेंट साइकिल चल पढ़ने की पूरी संभावना है जिसका इंतजार लंबे समय से था यह सब देखते हुए हमें उम्मीद है कि 8 से 9% बढ़ेगी । 1 अप्रैल से शुरू हुए नए वर्ष में काफी ग्रोथ आएगी ।

टेक होम सैलेरी कम नहीं होगी केंद्र ने फैसला टाला :

गुरुवार 1 अप्रैल से लागू होने वाले नए वेज कोर्ट को टाल दिया गया है इससे भारतीय कंपनियों को बड़ी राहत मिली है जबकि कर्मचारियों को भी एक अप्रैल 2021 से मिलने वाली सैलरी के स्ट्रक्चर में बदलाव नहीं होगा इससे अब टेक होम सैलेरी में कमी नहीं आएगी श्रम मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि नहीं श्रम कानून के नियमों को लेकर राज्यों ने नियमों को अंतिम रूप नहीं दिया है इसके चलते केंद्र सरकार ने अभी वेज कोड लाने का फैसला टाल दिया है अब सरकार के इस फैसले से कंपनियों को सैलरी स्ट्रक्चर में बदलाव करने के लिए थोड़ा और समय मिल जाएगा उन्होंने बताया कि उनका मंत्रालय ने श्रम कानूनों को लागू करने के लिए पूरी तरह तैयार है जैसे ही राज्यों की तरफ से इसकी सहमति बन जाएगी वैसे ही देश में चारों श्रम कानूनों को लागू कर दिया जाएगा नए वेज कोड को लागू होने से नौकरी करने वाले अधिकतर लोगों के सैलेरी स्ट्रक्चर में बड़ा बदलाव आता ।

अर्थव्यवस्था का बाउंस बैक जीडीपी इस साल 10.1% रहने की उम्मीद :

कोरोना काल में तेजी से बढ़ती भारतीय अर्थव्यवस्था का विश्व बैंक भी कायल हो गया है यही कारण है कि उसने भारत को लेकर अपना अनुमान बेहतर किया है बैंक ने बुधवार को ताजा रिपोर्ट में बताया है कि निजी खपत और निवेश बढ़ने से वित्त वर्ष 2021-22 में भारत की जीडीपी ग्रोथ 10.1% रह सकती है। यह जनवरी में जताए गए अनुमान 5.4% से करीब दोगुनी है हालांकि 2021- 22 अनिश्चितता को देखते हुए विश्व बैंक ने 7.5% से 12.5% की सीमा भी बताइए 22 मार्च को ही रेटिंग एजेंसी फिच ने वित्त वर्ष 2021 – 22 में भारतीय अर्थव्यवस्था में 12.8% की जबरदस्त बढ़त का अनुमान जताया था साउथ एशिया इकोनॉमिक्स फोकस रिपोर्ट में कहा है कि दक्षिण एशिया में भारत सबसे बड़ा देश है 2020 में सिर्फ भारत में एफडीआई बड़ा है भारत आईटी कंसलटिंग और इकॉमर्स प्लेटफॉर्म डाटा प्रोसेसिंग डिजिटल डिजिटल रिकॉर्ड संख्या में आकर्षित कर रहा है विश्व बैंक के मुख्य अर्थशास्त्री हंस टीमर के मुताबिक यह आश्चर्यजनक है कि पिछले साल के मुकाबले भारत कितना आगे निकल गया है भारत ने बाउंस बैक (उछल कर) लो ना किया है कई गतिविधियां शुरू हो गई है टीकाकरण शुरू हो गया है और व्यक्ति के उत्पादन में अग्रणी है हालांकि महामारी के चलते स्थिति अब भी चुनौतीपूर्ण है।

महामारी के झटके के बावजूद भारत में अवसरों का भंडार 2024 तक पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर :

हाल में सामने आए डाटा बताते हैं कि भारत रिकवरी की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा है उम्मीद है कि सब कुछ अच्छा रहा तो वित्त वर्ष 2021-22 में हमारी वृद्धि दर दोहरे अंकों में होगी इसकी पुष्टि कई अंतरराष्ट्रीय वित्तीय संस्थान ने भी की है वैश्विक महामारी के दौर में भी संक्रमण और मौतों की कम दर और व्यापक वैक्सीनेशन कार्यक्रमों की वजह से निश्चित रूप से उपभोक्ता और व्यवसाय दोनों का आत्मविश्वास बेहतर होने की उम्मीद है देश का कोविड-19 महामारी और लोक डाउन के काफी नुकसान हुआ लेकिन अब मौजूदा आर्थिक संकेत काफी उत्साहवर्धक है खपत निवेश और निर्यात बढ़ने से आने वाले वर्षों में विकास को बढ़ावा मिलेगा जलवायु परिवर्तन पर दुनिया नए सिरे से ध्यान केंद्रित कर रही है इससे भारत की मोबिलिटी का सबसे बड़ा मार्केट बनेगा भारत के पास इंजीनियर और टेक्नोलॉजिस्ट का टैलेंट फूल है । लोक डाउन ने हमें सिखाया है कि किस तरह से टेक्नोलॉजी ढेरों बाधाओं को पार कर सकती है इसलिए भारत अपने युवाओं को कहीं आईडी संबंधी व्यवसाय ओं स्टार्टअप और समाधान ओं की पहचान और विकास करते देखेगा आबादी के शीर्ष 10% आय वर्ग वाले ऐसे लोग जो आवाजाही पर लगे प्रतिबंधों से अब तक खर्च नहीं कर पाए हैं उनकी रुकी हुई डिमांड के चलते 5 तिमाहियों में से कम हो रहा है निजी निवेश बढ़ सकता है सरकार की ओर से किए जा रहे सहायक खर्चे और सुधारों के अलावा रिजर्व बैंक के तथा में और तेजी आ सकती है फिर भी रिकवरी की राह में कुछ चुनौतियां हो सकती है ऊंची मांगी नौकरियां का नुकसान खराब वेतन वृद्धि और परिसंपत्तियों के मूल्यों में कमी से उपभोक्ता की क्रय शक्ति प्रभावित हो सकती है।

एमएएफ जवान ने मंगेतर के घर में की फायरिंग, साले की मौत , सास जख्मी :

ईश्वर नगर के पास सब्जी फार्म में मंगलवार देर रात सातवीं बटालियन के एसएएफ जवान आदित्य चौहान ने जमकर उत्पात मचाया अजीत शराब के नशे में धुत था और सर्विस रायफल लेकर यहां रहने वाली अपनी मंगेतर रिंकी धाकड़ के घर पहुंच गए बोला तुझे मुझसे शादी करनी है या नहीं या तो आज तू हां बोलेगी मैं तेरा परिवार में मरेगा रिंकी ने जैसे ही मना किया तो अजीत ने घर में अंधाधुंध गोलियां चलाई जिसमें रिंकी के छोटे भाई रितेश और उसकी मां घायल हो गए अजीत और गोली चला था इससे पहले ही रिंकी उसके पिता और बड़े भाई जबान से भिड़ गए तीनों ने उससे राइफल चीनी और उसे एक कमरे में बंद कर दिया बाद में रिंकी ने पुलिस को सूचना दी और रितेश को स्कूटी पर लेकर अस्पताल पहुंची जहां रितेश की मौत हो गई जबकि मां के पैर में गोली लगी वह अस्पताल में भर्ती है पुलिस ने अजीत को गिरफ्तार कर लिया।

रेटिंग प्वाइंट घटने के बावजूद विराट और रोहित को वनडे रैकिंग में नुकसान नहीं T20 के टॉप 10 गेंदबाजों में न्यूजीलैंड की टीम सऊदी एकमात्र पेसर :

इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में मात्र 90 रन बनाने वाले रोहित शर्मा को आईसीसी वनडे रैंकिंग में 11 रेटिंग पॉइंट का नुकसान हुआ पहले मैच के बाद जारी रैंकिंग में उनके 836 और विराट कोहली के 868 रेटिंग थे अभी रोहित के 825 और विराट के 857 रेटिंग हो गए हैं हालांकि अभी भी विराट पर ले और रोहित इसलिए स्थान पर बने हुए हैं गेंदबाजी में भुवनेश्वर 9 स्थान के फायदे के साथ 11वें पर आ गए हैं सीरीज में 135 रन बनाने के साथ 4 विकेट लेने वाले स्टोक्स ऑलराउंडर की रैकिंग में दूसरे नंबर पर आ गए हैं इस बीच t20 बल्लेबाजी रैंकिंग में न्यूजीलैंड के कान वे चौथे नंबर पर आ गए हैं T20 की टॉप 10 गेंदबाजों में न्यूजीलैंड के सऊदी एकमात्र पेसर हैं । वे सातवें नंबर पर है।

फ्रांस की पीकेड्डा और अमेरिका के इमेरी स्नोबोर्ड फ्रिराइड जूनियर वर्ल्ड चैंपियन बने :

फ्रिराइड जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप के स्नोबोर्ड मेंस इवेंट में अमेरिका पहले स्थान पर है उन्हें 1330 पॉइंट मिले जज को उनकी तकनीकी पसंद आई जिसमें एक बड़ी डबल विलाफबी शामिल थी स्पेन के पोरीबा अर्जुन 1020 पॉइंट के साथ दूसरे स्थान पर रहे| महिला इवेंट में फ्रांस की स्टेला पकड़ा पहले स्थान पर रही उन्हें तीन लगातार जंप के साथ फिनिश किया ब्रिटेन की स्कारलेट विच दूसरे स्थान पर रही फ्री राइड जूनियर वर्ल्ड चैंपियनशिप की शुरुआत 2012 में हुई थी इस टूर्नामेंट में 16 से 18 साल के 60 खिलाड़ी हिस्सा लेते हैं यह एकमात्र इवेंट है जहां जूनियर यूरोपीय उत्तरी अमेरिकी और न्यूजीलैंड के राइडर एक साथ उतरते हैं 2020 सीजन रेटिंग के आधार पर खिलाड़ियों को टूर्नामेंट में शामिल किया गया है इस बार 15 देशों के खिलाड़ी टूर्नामेंट में हिस्सा लिया।