Ujjain : महाकाल की नगरी में रेड सेंडबुआ सांप की तस्करी, कीमत सुनकर सिर चकरा जाएगा

उज्जैन – महाकाल (Mahakal) की नगरी में तीन रेड सेंडबुआ सांप ज़ब्त किए गए. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इनकी कीमत ढाई करोड़ रुपये आंकी गयी है. इन सापों का इस्तेमाल तांत्रिक क्रियाओं और यौन शक्ति बढ़ाने वाली दवा बनाने में किया जाता है इसलिए इनकी डिमांड बहुत है. चार तस्करों को गिरफ्तार किया गया है.

उज्जैन एसटीएफ को एक मुखबिर ने सूचना दी थी. इस सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 3 दो मुँहे रेड सेंटबोआ सांपों को जब्त कर चार आरोपी को गिरफ्तार किया है. जब्त किये गए सांप की अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कीमत करीब ढाई करोड़ से अधिक बताई गयी है.

ग्राहक की तलाश में थे तस्कर

एसटीएफ पुलिस अधीक्षक अंजना तिवारी ने बताया कि मुखबिर से सूचना के आधार पर एक स्विफ्ट कार की घेरा बंदी की गयी थी. तलाशी ली गयी तो उसमें से तीन सेंडबोआ सांप को जब्त किया गया. ये सांप दो मुंह के हैं और अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इनकी कीमत करोड़ों में होती है. इसीलिए इन साँपो की डिमांड अंतर्राष्ट्रीय बाजार में अधिक होती है. तिवारी ने बताया की स्विफ्ट कार क्रमांक एमपी 47 जीए 0393 पर सवार होकर चार लोग नरवर के पास पुराने टोल नाके पर खड़े होकर तस्करी के लिए ग्राहक तलाश रहे थे. उसी दौरान एसटीएफ ने घेराबंदी कर उन्हें पकड़ लिया. आरोपियों के नाम इमरान उम्र 35 वर्ष , रमजान उम्र 32 वर्ष, सुभान उम्र 30 वर्ष सभी हरदा के रहने वाले हैं और रामदीन 30 वर्ष उज्जैन हैं. आरोपियों पर वन्य जीव अधिनियम की धारा में मामला दर्ज कर लिया गया है. जिस कार में ये सांप बेचने के लिए लाये थे उस कार को भी जब्त कर लिया गया है.

तंत्र-मंत्र में उपयोग

एसटीएफ की अधिकारी का कहना है तीनों सांपों की कीमत अंतर्राष्ट्रीय बाजार में ढाई करोड़ रुपये है. ये सांप कामुक दवाओं के निर्माण और अन्य मेडिसिन सहित काला जादू में इस्तेमाल किये जाते हैं. इन्हें घर में रखना शुभ माना जाता है. कई लोग इसका उपयोग तांत्रिक क्रियाओ में भी करते हैं. इससे पहले भी उज्जैन में उल्लू और सांप जब्त किए गए थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *