After 10th-12th Do Architecture Course, You Will Get Job In Both Government And Private Sector

Career in Architecture: 12वीं पास करने के बाद हर स्टूडेंट अपने करियर को लेकर काफी सीरियस हो जाता है और ऐसी फील्ड चुनना चाहता है जो उसके करियर को संवार सके. मेडिकल और इंजीनियरिंग के अलावा भी कई ऐसे करियर ऑप्शन हैं जिन्हें अपनाकर स्टूडेंट अपना आने वाला भविष्य बेहतरीन बना सकते हैं. इन ऑप्शन में से आर्किटेक्चर भी ऐसा ही ऑप्शन है. इस फील्ड में काफी स्कोप है और आर्किटेक्चर की डिग्री लेने के बाद सरकारी सेक्टर के अलावा प्राइवेट सेक्टर में भी अच्छी सैलरी पर जॉब पा सकते हैं.

क्या होता है आर्किटेक्चर का काम

आर्किटेक्चर का काम इमारत को डिजाइन करना, प्लानिंग और उसका निर्माण करना होता है. दरअसल आर्किटेक्चर पहले किसी भी संरचना की प्लानिंग करते हैं और फिर उसका डिजाइन तैयार करते हैं और फिर अपने डिजाइन को एग्जीक्यूट करवाते हैं. देश में दिखने वाली बड़ी-बड़ी इमारतें और बांध यही आर्किटेक्चर बनाते हैं. आर्किटेक्चर इमारतों और दूसरी फिजिकल स्ट्रक्चर की प्लानिंग करने, डिजाइन करने और निर्माण करने की आर्ट है. आर्किटेक्चर एक स्टडी स्ट्रीम है जो आर्टिस्टिक/स्केचिंग स्किल और इंजीनियरिंग को कंबाइन करती है. अपना खुद का व्यवसाय शुरू करने के अवसर के साथ एक सम्मानजनक पेशे के रूप में, आर्किटेक्चर क्रिएटिव माइंड के लिए एक अट्रैक्टिव करियर ऑप्शन है.

10वीं और 12वीं के बाद आर्किटेक्चर में कोर्स

आर्किटेक्चर का कोर्स करने के लिए 12वीं कक्षा गणित और इंग्लिश के साथ और 50 फीसदी मार्क्स के साथ पास होना अनिवार्य है. अगर किसी ने 10वीं के बाद डिप्लोमा कोर्स किया है तो वह भी आर्किटेक्चर का कोर्स कर सकता है.इसके लिए 12वीं पास आउट होना अनिवार्य नही है.10वीं के बाद आर्किटेक्चर में तीन साल का डिप्लोमा किया जा सकता है. वहीं 12वीं पास करने के बाद छात्र आर्किटेक्चर में बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर, मास्टर ऑफ आर्किटेचर और पीएचडी कर सकते हैं. आर्किटेक्चर की डिग्री के साथ ही कुछ सॉफ्टवेयर सीख लें तो सोने पर सुहागा हो जाता है. इसी के बाद किसी इमारत का डिजाइन तैयार किया जा सकता है.

यहां से कर सकते हैं आर्किटेक्ट का कोर्स

स्कूल ऑफ प्लानिंग एंड आर्किटेक्चर, नई दिल्ली

आईआईटी, खड़गपुर

IIT रुड़की

सर जेजे कॉलेज ऑफ आर्किटेक्चर

NIT तिरुचिरापल्ली

करियर स्कोप

आर्किटेक्ट के तौर पर प्राइवेट, पब्लिक और सरकारी सेक्टर में नौकरी की अपार संभावनाएं हैं. पब्लिक सेक्टर में लोक निर्माण, सिंचाई, हेल्थ जैसे डिपार्टमेंट में आर्किटेक्ट की जॉब के लिए अप्लाई किया जा सकता है. वहीं सरकारी क्षेत्र में आर्किओलॉजिकल विभाग, रक्षा मंत्रालय, रेलवे, लोकल एजेंसी, स्टेट डिपार्टमेंट, हाउसिंग में भी नौकरी की तलाश कर सकते हैं. अनुभव मिल जाने के बाद कंसल्टेंट और कंस्ट्रक्टर के तौर पर बिजनेस भी शुरू किया जा सकता है. दिनों दिन कंस्ट्रक्शन के क्षेत्र में बढ़ते काम की वजह से आर्किटेक्चर की डिमांड भी काफी ज्यादा है.

वेतन

प्राइवेट सेक्टर में आर्किटेक्ट के तौर पर 20 से 25 हजार रुपये प्रति माह सैलरी पा सकते हैं. कुछ सालों के एक्सपीरियंस के बाद 50 हजार रुपये मासिक सैलरी तक मिलने लगती है. वहीं सरकारी सेक्टर में पे-स्केल के मुताबिक लाखों में सैलरी मिल सकते हैं.

ये भी पढ़ें-

Gujarat CM Resigns: आज दोपहर गुजरात को मिलेगा नया मुख्यमंत्री, जानिए कौन-कौन हैं दावेदार 

भारत ने अफगानिस्तान में तालिबानी सरकार को मानने से किया इंकार, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कही ये बड़ी बात

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *