वाशिंगटनः अमेरिकी सांसदों ने बांग्लादेश में लोकतंत्र की स्थिति पर चिंता जताई है। सांसदों ने कहा कि प्रधानमंत्री शेख हसीना एक पार्टी के शासन को लागू करने की कोशिश कर रही हैं। अमेरिकी हिंद-प्रशांत कमान के प्रमुख एडमिरल फिलिप्स डेविडसन ने कांग्रेस की सुनवाई के दौरान सीनेट की सशस्त्र सेवा समिति के समक्ष दर्ज कराए अपने बयान में चिंता जताई।

डेविडसन के बयान से कुछ घंटे पहले सांसद इलियट एंजेल की अगुवाई में छह प्रभावशाली सांसदों के द्विदलीय समूह ने विदेश मंत्री माइक पॉम्पिओ को पत्र लिखकर बांग्लादेश में लोकतंत्र की रक्षा के लिए समय रहते कुछ करने की मांग की। डेविडसन ने कहा, ‘बांग्लादेश का 30 दिसंबर का चुनाव सत्तारूढ़ आवामी लीग द्वारा सत्ता के केन्द्रीकरण की चिंताजनक प्रवृत्ति की ओर इशारा करती है और यह डर पैदा करती है कि प्रधानमंत्री हसीना एक दलीय शासन लागू करने का प्रयास कर रही हैं।’

उन्होंने बांग्लादेश को अमेरिका के लिए महत्वपूर्ण देश बताते हुए वहां के हालात पर चिंता जताई। उन्होंने बताया कि बांग्लादेश महत्वपूर्ण सुरक्षा साझेदार है जिसमें क्षेत्रीय स्थिरता बढ़ाने और आतंकवाद का सामना करने के लिए दक्षिण एशिया में अमेरिकी हितों को पोषित करने, मुस्लिमों तक पहुंच बढ़ाने, हिंसक चरमपंथ का सामना करने, मानवीय सहायता और आपदा राहत तथा संयुक्त राष्ट्र शांति रक्षा अभियान में मदद देने की क्षमता है।
पेंटागन कमांडर ने कहा कि बांग्लादेश में म्यामांर के 7,00,000 रोहिंग्या शरणार्थियों की मौजूदगी से पैदा हुए मानवीय संकट से बांग्लादेश सरकार तनाव में आ गई है। सांसदों के द्विलदीय समूह ने पॉम्पिओ से कहा कि चुनाव में व्यापक पैमाने पर गड़बड़ी के आरोपों को गंभीरता से लिया जाना चाहिए।