इस्लामाबादः आर्थिक रूप से कंगाल हो चुका पाकिस्तान मदद के लिए दूसरो देश पर निर्भर है। वह इसके लिए भारत को जिम्मेदार मानता है। सऊदी अरब के युवराज के पाक दौरे और पाक में निवेश की घोषणाओं से खुश पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ‌एक बार फिर से भारत पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि भारत की पाकिस्तान को विश्व में अलग-थलग करने की कूटनीति नाकाम हो गयी है।

बता दें कि अमेरिका ने भी माना कि पाकिस्तान आतंकियों को शह देता है इसलिये उसने पाकिस्तान को दी जाने वाली करोड़ों डॉलर की मदद रोक दी। यही कारण है कि पाकिस्तान भारतीय कूटनीतिक जीत से तिलमिलाया हुआ है और उसके विदेश मंत्री बार-बार भारत के खिलाफ बेवजह कुछ भी बोलने से परहेज नहीं करते हैं।

रिपोर्ट के अनुसार कुरैशी ने कहा है कि ‘‘पाकिस्तान को कूटनीतिक रूप से अलग-थलग करने में भारत की नाकामी देश के लिए जीत है। साथ ही उन्होंने कहा कि जो भी देश पाकिस्तान में निवेश के इच्छुक है वे भारत से सहमत नहीं होंगे। कुरैशी ने पाक संसद में भारत पर कई बार अन्य देशों के साथ पाकिस्तान के राजनयिक संबंधों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश करने का भी आरोप लगाया है।

पाकिस्तान में भारी निवेश कर सकते हैं सलमान
सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान शनिवार को पाकिस्तान दौरे पर जाने वाले हैं। वह पाकिस्तान में भारी निवेश करने वाले हैं जिसे लेकर पाकिस्तान के हौसले बुलंद हैं और वह सलमान के दौरे के दौरान होने वाले निवेश को पाकिस्तान की जीत समझ रहे हैं। कुरैशी कहा है कि , ‘‘यह भारत का असंतोष ही है कि विभिन्न देश पाकिस्तान के साथ परस्पर व्यापारिक संबंध स्थापित करना चाहते हैं।