बैंकॉकः मोबाइल फोन के अचानक ब्लास्ट होने से कई लोगों की जान जा चुकी है। इसमें ज्यादातर धमाके बैटरी के अत्यधिक गरम होने से होती है। अब एक नया मामला सामने आया है जिसमें थाईलैंड के एक 24 वर्षीय युवक की मौत कानों में ईयरफोन लगाने की वजह से हुई है। थाईलैंड के मीडिया के मुताबिक, लोकल पुलिस को शक है कि इस युवक की मौत स्मार्टफोन द्वारा हुए इलेक्ट्रोक्यूशन की वजह से हुई होगी। हालांकि, पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और इस मामले में कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया है।

दूसरे फोन के चार्जर से चार्ज कर रहा था फोन
थाईलैंड पुलिस का मानना है कि युवक की मौत मुख्य रूप से शॉर्ट सर्किट के कारण हुई होगी। ऐसा माना जा रहा है कि 24 वर्षीय युवक अपना स्मार्टफोन चार्जिंग में लगाकर कोई गाना सुन रहा होगा या किसी से बात कर रहा होगा। पुलिस का कहना है कि स्मार्टफोन सैमसंग का कोई मॉडल था और इसे किसी सस्ते थर्ड पार्टी चार्जर से चार्ज किया जा रहा था। साथ ही ये भी पाया गया कि युवक अपने होठों पर ईयरफोन के माइक्रोफोन वाले हिस्से को रखा हुआ था।

हेडफोन में हुआ शॉर्ट-सर्किट
स्मार्टफोन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस के जरिए शॉर्ट-सर्किट की यह पहली घटना नहीं है। आमतौर पर स्मार्टफोन की बैटरी में होने वाला ब्लास्ट भी एक तरह का शॉर्ट-सर्किट का ही उदाहरण है। जब स्मार्टफोन की बैटरी ओवरहीट हो जाती है तो उसके ब्लास्ट होने की संभावना काफी बढ़ जाती है। जैसा कि इस घटना में युवक ने कोई थर्ड पार्टी चार्जर का इस्तेमाल किया था जो कि उस स्मार्टफोन के साथ कम्पैटिबल नहीं था। स्मार्टफोन में लोकल चार्जर के इस्तेमाल से इसके हेडफोन में शॉर्ट-सर्किट हो गया होगा जिसकी वजह से युवक की मौत हो गई।
यह है कारण
आमतौर पर इंटरनेट के दौर में लोग स्मार्टफोन का इस्तेमाल देर रात तक करते हैं। इंटरनेट के साथ स्मार्टफोन इस्तेमाल करने पर बैटरी की ज्यादा खपत होती है। ऐसे में कई बार यूजर्स स्मार्टफोन को चार्जिंग में लगाकर इस्तेमाल करने लगते हैं। इसके बाद स्मार्टफोन ब्लास्ट होने से लेकर शॉर्ट सर्किट जैसी घटनाओं के होने की संभावना भी ज्यादा होती है।
बचने के उपाय
– स्मार्टफोन चार्ज करते समय कभी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।
– स्मार्टफोन में कभी भी थर्ड पार्टी का चार्जर न लगाएं।
– स्मार्टफोन में ईयरफोन लगाकर न सोएं।
– फोन गर्म होने की स्तिथि में उसका इस्तेमाल न करें।
– स्मार्टफोन हैंग होने की स्तिथि में इसे सर्विस सेंटर पर जरूर दिखाएं।
– समय-समय पर अपने स्मार्टफोन की बैटरी को चेक करें।