वॉशिंगटन : प्रतिष्ठित रोजा पार्क्स ट्रेलब्लेजर पुरस्कार पाने के कुछ सप्ताह बाद प्रतिष्ठित भारतीय अमेरिकी सिख गुरिंदर सिंह खालसा ने चुनावी राजनीति में उतरने का फैसला किया है। सिंह ने सिटी काउंसिल ऑफ फिशर्स के चुनाव के लिए अपनी योजना की घोषणा करने के बाद बुधवार को इंडियानापोलिस में अपने समर्थकों से कहा, ‘‘अपने समुदाय के लिए कुछ करने की इच्छा के साथ मेरे पूर्व अनुभवों पर आधारित सार्वजनिक नीति में रुचि उन कारणों में शामिल है जिससे मैंने चुनावी राजनीति में आने का फैसला किया।”

एक से ज्यादा दशक से इंडियाना में फिशर्स समुदाय के निवासी खालसा एक प्रतिष्ठित कारोबारी नेता, उद्यमी और परोपकारी है जिन्होंने राज्य और देश में जन सेवा के नेताओं और संगठनों के साथ काम किया। बुधवार को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार उन्होंने कहा, ‘‘मैं जन सेवा के जरिए समाज को कुछ वापस करने का हिस्सा बनना चाहता हूं।”

गौरतलब है कि गत महीने खालसा को मई 2007 में दिखाये गये उनके साहस के लिए प्रतिष्ठित रोजा पार्क्स ट्रेलब्लेजर पुरस्कार के लिए चुना गया था। मई 2007 में उन्हें न्यूयॉर्क में एक विमान में चढ़ते हुए अपनी पगड़ी हटाने के लिए कहा गया था। इस घटना के बाद उन्होंने इस मुद्दे की ओर अमेरिकी संसद का ध्यान खींचा जिसके बाद देशभर में हवाईअड्डों पर पगड़ी उतारने की नीतियां बदली गयी।