कोलंबोः प्रथम श्रेणी क्रिकेट के एक ही मैच में एक बल्लेबाज ने दो बार दोहरे शतक जड़ दिये। यह उपलब्‍धि निश्चित तौर पर चौंकाने वाला है। लगभग 200 साल के प्रथम श्रेणी क्रिकेट इतिहास में ऐसा अब तक महज दो बार हुआ है। 81 साल पहले हुए इस कारनामे को कोलंबो में दोहराया गया।
दरअसल, श्रीलंका के एंजेलो परेरा ने नॉन्डेस्क्रिप्ट्स क्रिकेट क्लब की ओर से खेलते हुए चार दिवसीय मैच में दो दोहरे शतक जड़ दिए।

29 साल के होने जा रहे एंजेलो परेरा ने प्रीमियर लीग टूर्नामेंट में सिंहलीज स्पोर्ट्स क्लब के खिलाफ पहली पारी में 201 रन (203 गेंदों में) बनाए, जबकि दूसरी पारी में उनके बल्ले से 231 रन (268 गेंदों में) निकले। इसके साथ ही उन्होंने इंग्लैंड के ऑर्थर फैग के उस रिकॉर्ड की बराबरी कर ली, जब उन्होंने 1938 में कोलचेस्टर में केंट की ओर से खेलते हुए एसेक्स के खिलाफ मैच में 244 और नाबाद 202* रनों की पारियां खेली थीं।

पी सारा ओवल मैदान पर परेरा का यह प्रदर्शन एक अच्छे गेंदबाजी आक्रमण के सामने आया है। जिसमें धमिका प्रसाद और सचित्रा सेनानायके जैसे गेंदबाज हैं, जो श्रीलंका के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेल चुके हैं।
बल्लेबाजी ऑलराउंडर परेरा का इंटरनेशनल क्रिकेट में प्रदर्शन फीका रहा। इस वजह से वह टीम के नियमित खिलाड़ी नहीं बन पाए। श्रीलंका की ओर से जुलाई 2013 में उन्होंने वनडे में पर्दापण किया था और कुल चार मैच (8 रन, कोई विकेट नहीं) खेले। उसी साल मार्च में टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करते हुए वह दो मैच (4 रन, कोई विकेट नहीं) खेले।

18 बार शतक जड़ चुके हैं
परेरा के पास 97 प्रथम श्रेणी मैचों का अनुभव है जिनमें उन्होंने अब तक 18 शतकों के साथ 47.54 की औसत से 6941 रन बनाए हैं। अब इन दो दोहरे शतकों की बदौलत उन्होंने श्रीलंकाई चयनकर्ताओं के सामने राष्ट्रीय टीम में वापसी का दावा ठोक दिया है।