लंदन : ‘‘मंथली नोटिसिस ऑफ द रॉयल एस्ट्रॉनोमिकल सोसायटी : लेटर्स’’ जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार शोधकर्ताओं ने हर्बल अंतरिक्ष टेलिस्कोप की मदद से ब्रह्मांड में पीछे की ओर मौजूद एक बौनी आकाशगंगा का पता लगाया है। यह पृथ्वी से तीन करोड़ प्रकाश वर्ष दूर स्थित है।
यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी(ईएसए) के अनुसार, इस अध्ययन का उद्देश्य गोल तारामंडल की आयु का पता लगाने के लिए इन तारों का इस्तेमाल करना था लेकिन इस प्रक्रिया में शोधकर्ताओं को बौनी आकाशगंगा मिली। उनके लिए यह एक अप्रत्याशित खोज थी। शोधकर्ताओं ने तारों के गोल गुच्छे एनजीसी 6752 के भीतर सफेद बौने तारों का अध्ययन करने के लिए नासा/ईएसए हबल अंतरिक्ष टेलिस्कोप का इस्तेमाल किया।
इन तारों की चमक और तापमान का ध्यानपूर्वक विश्लेषण करने के बाद खगोलविदों ने पाया कि ये तारे आकाशगंगा के तारामंडल का हिस्सा नहीं हैं बल्कि उससे करोड़ों प्रकाश वर्ष दूर स्थित हैं। हमारे ब्रह्मांड की पड़ोसी, बेदिन-1 नाम की आकाशगंगा आकार में बहुत छोटी है। इसका आकार आकाशगंगा के एक छोटे-से हिस्से जितना है। शोधकर्ताओं के अनुसार यह ना केवल बहुत छोटी बल्कि धुंधली भी है। बता दें कि बौनी आकाशगंगा में दूसरी आकाशगंगाओं की तुलना में काफी कम तारे होते हैं।