पंचकूला: डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को गुरुवार यानी आज फिर एक मामले में सजा सुनाई जाएगी, जिसे देखते हुए पंचकूला में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है। राम रहीम सहित चार लोगों को आज सजा पत्रकार राम चंदर छत्रपति हत्या मामले में कोर्ट सुनाएगी। इससे पहले इस मामले में पंचकूला की विशेष सीबीआई कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए राम रहीम समेत चार लोगों को दोषी ठहराया था।

कोर्ट वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्‍यम से सजा का ऐलान करेगी। यहां चर्चा कर दें कि डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पहले से ही साध्वी से यौन शोषण के मामले में सलाखों के पीछे हैं। सजा के ऐलान को देखते हुए पजांब और हरियाणा जैसे क्षेत्रों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गये हैं।

गौर हो कि अगस्त 2017 में राम रहीम को सजा सुनाए जाने के दौरान हरियाणा के सिरसा और पंचकूला में हिंसा भड़की थी जिसे काबू में करने के लिए प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी थी। इस हिंसा में 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो गयी थी और कई लोग घायल भी हुए थे।

आप भी जानें पत्रकार हत्याकांड के बारे में
डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम पर किशन लाल, निर्मल और कुलदीप के साथ मिलकर पत्रकार की हत्या की साजिश रचने का आरोप था। सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या कराने का आरोप इनलोगों पर लगा जिसके बाद मामले में कोर्ट ने इन्हें दोषी पाया। आरोप है कि बाइक पर आए कुलदीप ने गोली मारकर रामचंद्र की हत्या कर दी थी, उसके साथ निर्मल भी था। पत्रकार ने अपने सांध्य कालीन समाचार पत्र पूरा सच में इस संबंध में अनाम साध्वी का पत्र छापा था जिससे राम रहीम नाराज थे। मामले में 2003 में एफआईआर दर्ज हुई थी और 2006 में मामला सीबीआई को सौंपा गया था। इन साध्वियों से दुष्कर्म के मामले में ही गुरमीत राम रहीम सुनारिया जेल में 20 साल कैद की सजा काट रहा है।